Connect with us
Kedarnath Meditation Cave Booking जिस गुफा में मोदी ने लगाया था ध्‍यान, वह गुफा मई तक बुक, 3000 है प्रतिदिन का किराया

उत्तराखण्ड

केदारनाथ की ध्यान गुफा को लेकर भक्तों में जबरदस्त उत्साह, मई की बुकिंग फुल

खबर शेयर करें -

रुद्रप्रयाग: केदारनाथ यात्रा आरंभ होने हो चुकी है और लोगों के बीच केदारनाथ यात्रा को लेकर काफी उत्साह देखा जा रहा है।लोग इस कदर उत्साहित हैं कि कई तो अभी से केदारनाथ पहुंच गए हैं और बाबा केदार की एक झलक पाने के लिए उत्सुक हैं। जिस हिसाब से धाम के लिए आनलाइन पंजीकरण हो रहे हैं, उससे उम्मीद है कि इस बार रिकार्ड तीर्थ यात्री बाबा के दर्शनों को पहुंचेंगे।

वहीं, तीर्थयात्री केदारनाथ यात्रा के दौरान ध्यान भी लगा सकते हैं। इसके लिए बकायदा तीन गुफाएं बनाई गई हैं जहां पर ऑनलाइन बुकिंग के तहत लोग ध्यान लगा सकते हैं। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट केदारनाथ में बीते साल नवीनीकरण हुआ और कई व्यवस्थाओं को सुधारा गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत केदारनाथ की पहाड़ियों पर तीन ध्यान गुफाएं बनाई गई हैं।

यह भी पढ़ें 👉  गुलदार से भिड़ गया किसान, दोनों पंजे पकड़कर मचा दिया शोर,ग्रामीणों के आते ही भाग खड़ा हुआ गुलदार

इनमें से जिस गुफा में प्रधानमंत्री मोदी ने ध्यान लगाया था। उसकी मई तक की बुकिंग फुल हो चुकी है। यह गुफा मंदिर से लगभग 800 मीटर दूर मंदाकिनी नदी के दूसरी ओर दुग्ध गंगा के पास स्थित है। इस गुफा के बाद बनी दो अन्य गुफाओं की बुकिंग आफलाइन है।

यात्रा के दौरान गढ़वाल मंडल विकास निगम के केदारनाथ स्थित अतिथिगृह में इन गुफाओं के लिए बुकिंग होती है। दरअसल केदारनाथ की पहाड़ियों पर स्थित प्राकृतिक गुफाओं को ध्यान गुफा के रूप में तैयार किया गया है। वर्ष 2018 में एक गुफा का निर्माण नेहरू पर्वतोरोहण संस्थान ने किया था। वर्ष 2019 में 18 मई को इसी गुफा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ध्यान लगाया था। इसके बाद इस गुफा का के प्रति तीर्थ यात्रियों का आकर्षण काफी बढ़ गया।यहां बुकिंग करने वाले व्यक्ति को जीएमवीएन की ओर से एक समय का भोजन व चाय-नाश्ता उपलब्ध कराया जाता है।

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page

You cannot copy content of this page