Connect with us
आमतौर पर अगर आपका नींद चक्र सही है, तो आपको बिस्तर पर लेटने के 10-20 मिनट के भीतर नींद आ जानी चाहिए। पर्याप्त नींद लेने से आपको थकान, कमजोरी, सुस्ती, तनाव और शरीर में दर्द के अलावा कई गंभीर बीमारियों का जोखिम बढ़ सकता है।

लाइफस्टाइल

Tips to sleep fast: चाहे जितनी गोलियां खा लें, जब तक ये 6 गंदी आदत नहीं छोड़ेंगे नहीं आएगी सुकून भरी नींद

खबर शेयर करें -

क्या आपको नींद नहीं आती है, क्या आप पूरे दिन थकान महसूस करते हैं? नींद नहीं आना एक बड़ी समस्या बनाता जा रहा है। जाहिर है पर्याप्त नींद नहीं लेनेका सेहत पर गहरा असर पड़ता है। आमतौर पर अगर आपका नींद चक्र सही है, तो आपको बिस्तर पर लेटने के 10-20 मिनट के भीतर नींद आ जानी चाहिए। अगर ऐसा नहीं हो रहा है, तो आपको नींद नहीं आने की बीमारी हो सकती है अनिद्रा हो सकती है। इसमें कोई शक नहीं है कि इस बीमारी की लिए आप खुद ही जिम्मेदार हैं।


वास्तव में ऐसे कई कारक हैं, जो आपकी नींद को प्रभावित कर रहे हैं। आपको ध्यान रखना चाहिए कि पर्याप्त नींद लेने से आपको थकान, कमजोरी, सुस्ती, तनाव और शरीर में दर्द के अलावा कई गंभीर बीमारियों जैसे हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, दिल का दौरा, हार्ट फेल होना या स्ट्रोक का भी जोखिम बढ़ सकता है। कई ऐसी गंदी आदतें हैं, जो आपकी नींद में खलल डालती हैं और आपको इन्हें तुरंत छोड़ देना चाहिए, वरना स्लीपिंग पिल्स भी अपना असर दिखाना बंद का देंगी।

​रात को भूखे पेट सोना

​रात को भूखे पेट सोना

NCBI की एक रिपोर्ट के अनुसार, हो सकता है कि आप कोई स्पेशल डाइट प्लान फॉलो कर रहे हों या हो सकता है आपका पेट भरा-भरा लग रहा हो। बेशक आपको भूख न लगे फिर भी आपको रात को कुछ खाए बिना नहीं सोना चाहिए। बहुत अधिक खाना अच्छी नींद के लिए एक समस्या है, लेकिन भूख भी आपको सोने नहीं देगी।

​दिन में सोने की गंदी आदत

​दिन में सोने की गंदी आदत

अक्सर देखा गया है कि लोग समय मिलते ही दिन में बी सो जाते हैं। जाहिर है इससे तो रात में आपकी नींद की गुणवत्ता खराब हो सकती है। यदि आप दिन में नींद महसूस करते हैं, तो इसका मतलब है कि आपको थोड़ी स्ट्रेचिंग करनी चाहिए। इससे नींद भी नहीं आएगी और ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ेगा, रक्त परिसंचरण में सुधार होगा और आप काफी बेहतर महसूस करेंगे।

​सुबह को नाश्ता नहीं करना

​सुबह को नाश्ता नहीं करना

नाश्ते का रात को सोने से कोई सीधा संबंध नहीं है। लेकिन सुबह का नाश्ता आपके शरीर को संकेत देता है कि अब उसका काम शुरू हो गया है और वो उसी हिसाब से काम करता है। इसके अलावा नाश्ता मेटाबॉलिज्म को भी कंट्रोल रखता है। जब आप भोजन के बीच बहुत लंबा ब्रेक लेते हैं या अपना नाश्ता छोड़ देते हैं, तो दिमाग सोचता है कि उसे भूख लग सकती है।

​बेडरूम की साफ-सफाई नहीं करना

​बेडरूम की साफ-सफाई नहीं करना

अगर आप अपने आस-पास की गंदगी की परवाह नहीं करते हैं, तो आपका दिमाग भी सही तरह काम नहीं करता है। ऐसा माना जाता है कि दिमाग आस-पास की हर चीज को याद रखता है और अगर सोने से पहले आपने वो चीज देखी थी जो बिखरी पड़ी थी, तो आपकी नींद भी अस्त-व्यस्त हो जाएगी।

​पेट के बल सोना

​पेट के बल सोना

मेयो क्लिनिक की एक रिपोर्ट के मुताबिक, हर व्यक्ति की अपनी पसंदीदा नींद की पोजीशन होती है। सबसे अच्छी नींद तब आती है, जब पीठ के बल या करवट लेकर सोते हैं। पेट के बल सोना सबसे खराब मानी जाती है, क्योंकि इस स्थिति में रीढ़ की हड्डी और मांसपेशियां आराम नहीं करती हैं, छाती दब जाती है और सांस लेना मुश्किल होता है।

सोने से पहले मीठा खाना

सोने से पहले मीठा खाना

शुगर का काम ब्रेन को एक्टिव करना है और रात में दिमाग एक्टिव रहेगा, तो नींद कैसे आएगी। यदि आप सोने से पहले चॉकलेट खाते हैं, तो यह अनिद्रा का कारण बन सकता है क्योंकि इसमें कैफीन होता है।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in लाइफस्टाइल

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page