Connect with us
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के बीच एक्स (ट्विटर) पर मुफ्त योजनाओं को लेकर जुबानी जंग चल रही है।

राजनीति

ट्विटर पर तेज हुई केजरीवाल और खट्टर के बीच जंग, मुफ्त योजनाओं को लेकर मचा है बवाल

खबर शेयर करें -

नई दिल्ली: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बीच सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म एक्स (ट्विटर) पर जंग तेज हो गई है। इस जंग कि शुरुआत मनोहरलाल खट्टर के एक तवीत के बाद हुई, जिसमें उन्होंने आम आदमी पार्टी कि दिल्ली सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने आप पार्टी कि मुफ्त योजनाओं को घेरते हुए कहा था कि हमारी यह प्राथमिकता नहीं है।

मनोहरलाल खट्टर ने कहा था कि बहुत सी ऐसी पार्टियां हैं जो नारे लगाती हैं कि ये मुफ्त लो, वो मुफ्त लो। मुफ्त की आदत लगाने की बजाय हमारी सरकार की प्राथमिकता है कि काम करने वाले व्यक्ति की आवश्यताओं को पूरा करके उसके हुनर को निखार कर उसका विकास किया जाए। इसके जवाब में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारी इन सुविधाओं से जनता बेहद ही खुश है। 

आप के राष्ट्रीय संयोजक ने कहा, “खट्टर साहब। हम दिल्ली में फ़्री और विश्व स्तरीय शिक्षा देते हैं, फ़्री और विश्वस्तरीय इलाज देते हैं। फ़्री और 24 घंटे बिजली देते हैं, पानी देते हैं। पंजाब में भी हमने ये सब काम शुरू कर दिए हैं। और जनता इन सुविधाओं से बहुत खुश है। जल्द ही हरियाणा के लोगों को भी इसका फ़ायदा मिलेगा।”

इसके जवाब में खट्टर ने ट्विटर पर लिखा, ‘आप’ को मुफ्त का खाने की आदत लगी है, मुफ़्त का खाया हुआ कब निकल जाए यह बात ‘आप’ के मंत्रियों से बेहतर कौन समझ सकता है। इस हमले के बाद केजरीवाल ने कहा कि हम जनता के पैसे से जनता को फ्री सुविधाएं दे रहे हैं।

अरविंद केजरीवाल ने लिखा, “हम जनता के पैसे से जनता को फ़्री सुविधाएं देते हैं। इससे आपको तकलीफ़ होना लाज़मी है खट्टर साहब। क्योंकि आपकी पार्टी में तो जनता का पैसा अपने ख़ास दोस्तों पर लुटाने का चलन जो है। और रही बात मंत्रियों की तो सुना है कि आजकल आप अपने एक मंत्री के पाप को बचाने की जी तोड़ कोशिश कर रहे हैं। आख़िर क्या वजह है कि महिलाओं साथ दुर्व्यवहार करने वालों को पूरी भाजपा बचाने में जुट जाती है?”

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

More in राजनीति

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page