Connect with us
वायरल हो रही वीडियो में बाघिन पर्यटक की जिप्सी पर झपट पड़ी। गनीमत रही कि बाघिन हमला करने का प्रयास करते हुए आगे बढ़ गई। मामले में वन विभाग ने जिप्सी चालक के खिलाफ केस दर्ज किया है और गाइड की संलिप्पता की भी जांच की जा रही है।

रामनगर

जंगल सफारी पर गए सैलानियों की गाड़ी पर बाघिन ने किया अटैक, VIDEO देख दहल जाएंगे

खबर शेयर करें -

रामनगर (नैनीताल): सफारी के नाम पर कुछ जिप्सी चालक नियमों का मखौल उड़ा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला सीतावनी रोड पर टेड़ा क्षेत्र में देखने को मिला। प्रसारित हो रही वीडियो में बाघिन पर्यटक की जिप्सी पर झपट पड़ी। गनीमत रही कि बाघिन हमला करने का प्रयास करते हुए आगे बढ़ गई। मामले में वन विभाग ने जिप्सी चालक के खिलाफ केस दर्ज किया है और गाइड की संलिप्पता की भी जांच की जा रही है।

रामनगर वन प्रभाग के अंतर्गत सीतावनी पर्यटन जोन में पर्यटक डे सफारी करते हैं। बुधवार को भी सुबह की पाली में पर्यटक सीतावनी सफारी के लिए गए थे। इसी बीच एक जिप्सी चालक पर्यटकों को लेकर सीतावनी जोन से पहले ही लोनिवि की सड़क किनारे झाड़ी में बाघिन को देखकर रुक गया। पर्यटक बाघिन की वीडियो बनाने लगा। पर्यटकों को सामने से न हटता देख बाघिन झाड़ी से बाहर निकलकर पर्यटकों पर झपट गई।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: प्रेमी के इश्क में पागल हुई पत्नी, दे डाली पति की हत्या की सुपारी

चालक ने जिप्सी भगा दी। बाघिन कुछ दूर तक जिप्सी के पीछे भी भागी। इस दौरान लापरवाह चालक फिर जिप्सी बैक करके बाघिन वाली जगह पर ले आया। बाघिन हमले के मूड में थी यदि जिप्सी की स्पीड हल्की होती तो वह छलांग लगाकर पर्यटक पर हमला कर देती।

वायरल वीडियो डीएफओ कुंदन कुमार को भी भेजी गई। इसके बाद टेड़ा वन चौकी के गेट पर जिप्सी नंबर चिन्हित किया गया। उसके चालक के खिलाफ भी केस दर्ज किया है। जिप्सी को ब्लैक लिस्ट की कार्रवाई की जा रही है।

पैसे के लालच में पहुंचाते हैं बाघ के नजदीक

कार्बेट हो या अन्य पर्यटन जोन कुछ जिप्सी चालक पैसे के लालच में पर्यटकों को बाघ के नजदीक तक ले जाते हैं। यह पर्यटकों के लिए खतरा भी बन सकता है। वन विभाग के अफसरों को इस तरह की बढ़ती प्रवृत्ति पर रोक लगाए जाने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें 👉  नदी में नहाने गए युवक की ट्रेन की चपेट में आने से दर्दनाक मौत

कुछ दिनों से उस क्षेत्र में बाघिन बच्चों के साथ दिखाई दे रही है। जिप्सी का पता लगा लिया है। जिप्सी स्वामी व उसके चालक वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत केस किया गया है। जिप्सी को भी सीतावनी जोन में हमेशा के लिए प्रतिबंधित कर रहे हैं। कुंदन कुमार, डीएफओ रामनगर वन प्रभाग

जिप्सी चालक की इस तरह की हरकत को ठीक नहीं कहा जा सकता है। यूनियन भी इसका बिल्कुल समर्थन नहीं करती है। जिप्सी चालकों को नियम का पालन करना चाहिए। इस तरह की गतिविधियां जो लोग कर रहे हैं, गलत है। प्रेम सिंह महरा, अध्यक्ष कार्बेट जिप्सी वेलफेयर एसोसिएशन, रामनगर

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

More in रामनगर

Trending News

Follow Facebook Page

You cannot copy content of this page