Connect with us

others

मौत से पहले आशीष के लंबे बालों की विग, होंठों पर लिपिस्टिक, माथे में बिंदी के साथ आत्महत्या, एटीसी इंचार्ज ख़ुदकुशी मामला

खबर शेयर करें -

पंतनगर एयरपोर्ट के सरकारी आवास में संदिग्ध परिस्थितियों में फंदे पर लटके मिले एटीसी इंचार्ज आशीष चौसाली की मौत पर परिजनों के साथ ही सहकर्मी भी सकते में हैं। एक हंसमुख इंसान का असमय चले जाने के पीछे की वजह साफ नहीं हो सकी है। मंगलवार सुबह परिजन अशीष का भांजा आकाश और फुफेरा भाई रवि शव को पिथौरागढ़ ले गए, जहां गमगीन माहौल में उनकी अंत्येष्टि कर दी गई।

इधर एयरपोर्ट में सभी कर्मियों ने आशीष को श्रद्धांजलि देने के साथ ही दो मिनट का मौन रखा।पिथौरागढ़ निवासी आशीष चौसाली (35) मृदुभाषी और मिलनसार व्यक्ति थे। उनका व्यवहार बिल्कुल सामान्य रहता था। एयरपोर्ट परिसर के सरकारी आवास में रह रहे आशीष के साथ उनका भांजा आकाश भी रहता था। पहले आकाश और आशीष एक ही कमरे में साथ सोते थे। आवास का केवल मुख्य द्वार ही बंद करते थे और कमरों के दरवाजे खुले रहते थे। सूत्रों के अनुसार करीब छह माह पहले आशीष के व्यवहार में बदलाव आने लगा और उन्होंने आकाश को अलग कमरे में सोने की हिदायत दी थी। पहले तो आशीष अपना कमरा खुला रखते थे, फिर उन्होंने अंदर से बंद करना शुरू कर दिया।

आकाश के इस बदलाव का कारण पूछने पर आशीष ने हंस कर टाल दिया था। सोमवार को भी उनका कमरा अंदर से बंद था और दरवाजा तोड़कर उनके शव को बाहर निकाला गया।

सभी को यह जानने की उत्सुकता है कि आखिर आशीष ने किन परिस्थितियों में यह कदम उठाया था। उन्होंने महिला के मेकअप क्यों किया था। आशीष किसी साजिश के शिकार हो गए थे या फिर वजह कुछ और थी। हालांकि पुलिस अभी इस मामले में जांच कर रही है।

आम का स्वाद लिए बिना दुनिया से हुए रुखसतरविवार की शाम आशीष की पड़ोसी सहकर्मियों से परिसर में लगे पेड़ों से सोमवार सुबह आम तोड़ने की बात तय हुई थी। इसके तहत सभी सहकर्मी सोमवार सुबह आशीष के आवास पहुंचे। उन्होंने उनके कमरे का दरवाजा खटखटाया लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलने पर उनके भांजे आकाश को आम तोड़ने साथ ले गए। सभी लोग आम तोड़कर वापस आए और आशीष के हिस्से के आम आकाश को सौंपकर चले गए लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था।

तो कहीं ऑटोएरोटिसज्म से तो नहीं जुड़ा है मामला

महिला के लिबास में आत्महत्या के मामले में पुलिस हर कोण पर जांच कर रही है। लेकिन मिलनसार आशीष का महिला के लिबास में मृत मिलना कई आशंकाओं को जन्म दे रहा है। पुलिस इस एंगल पर भी जांच कर रही है कि कहीं आशीष ऑटोएरोटिसिज्म का शिकार तो नहीं हो गए थे। हालांकि अभी यह जांच का विषय है। लेकिन घटना वाली रात दस बजे के बाद आशीष ने इंटरनेट भी नहीं चलाया था। उसकी अंतिम कॉल भी बेहद सामान्य थी। अब पहेली को सुलझाना पुलिस के लिए आसान नहीं है।

इस पूरी घटना में विभिन्न बिंदुओं पर जांच की जा रही है। आशीष के मोबाइल को खंगाला जा रहा है। यह देखा जा रहा है कि आशीष के सामने कौन सी परिस्थितियां थी। इस मामले में अभी कुछ स्पष्ट नहीं हो सका है।-मंजूनाथ टीसी, एसएसपी।

पंतनगर एयरपोर्ट के एयर ट्रैफिक इंचार्ज (एटीसी) आशीष की मौत से हर कोई स्तब्ध है। जिस स्थिति में शव बरामद हुआ वह चर्चा का विषय बना हुआ है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार फंदे पर लटका आशीष महिला के गेटअप में था। उसने पाजामा के साथ महिलाओं के परिधान धारण किए थे। लंबे बालों की विग पहनने के साथ ही होंठों पर लिपिस्टिक और माथे में बिंदी भी लगाई थी। हालांकि फंदे से शव उतारने के बाद लोगों ने सामान उतारकर कंबल में लपेट दिया था।वहीं मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस के उच्चाधिकारियों सहित फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने घटनास्थल का मुआयना किया और मौके से मृतक के मोबाइल सहित अन्य साक्ष्य संकलित किए। साथ ही पुलिस भी विभिन्न एंगल से आत्महत्या के कारणों की जांच में जुट गई है।

इधर, मृतक के परिजनों को सूचना दे दी गई है, उनके देर रात तक पंतनगर पहुंचने की संभावना है।

पंतनगर एयरपोर्ट में एटीसी इंचार्ज पद पर तैनात कर्मी संदिग्ध परिस्थितियों में फंदे से लटका मिला है। सूचना मिलते ही पुलिस ने जिला अस्पताल पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लिया और पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। टीम ने मौके से मोबाइल व कमरे में मिली अन्य वस्तुए कब्जे में ले ली हैं। मृतक के मोबाइल की सीडीआर और सोशल मीडिया पर एक्टिविटी सहित बैंक अकाउंट से लेन-देन की जांच की जाएगी।

-मनोज कत्याल, एसपी सिटी रूद्रपुर

अमर उजाला साभार

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in others

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page