Connect with us
बताया जा रहा है कि यह निपाह वायरस कोरोना से भी ज्यादा भयंकर है और इसकी मृत्यु दर भी ज्यादा है

लाइफस्टाइल

10 Symptoms Of Nipah Virus: कोरोना का बाप निकला निपाह वायरस, 40 से 70% है मृत्यु दर, 10 लक्षण दिखते ही भागें अस्पताल

खबर शेयर करें -

केरल में इन दिनों एक बार फिर खतरनाक निपाह वायरस (Nipah virus) ने कहर मचाना शुरू कर दिया है। संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 1,080 हो गई है। इनमें 624 उच्च जोखिम वाली श्रेणी में हैं जिनमें से 327 स्वास्थ्यकर्मी हैं। इस घातक वायरस से दो लोगों की मौत भी हो चुकी है। वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए शहर में स्कूल, कॉलेज और इंस्टीट्यूट बंद कर दिए गए हैं। वायरस को फैलने से रोकने के लिए अथॉरिटी ने 100 से अधिक स्थानों को निषिद्ध क्षेत्र घोषित किया है।

कोरोना से ज्यादा खतरनाक
भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक राजीव बहल ने ला कहा कि से संक्रमित लोगों में मृत्यु दर कोविड-19 महामारी की तुलना में बहुत अधिक है। जहां कोविड की मृत्यु दर दो से तीन प्रतिशत थी, वहीं निपाह की मृत्यु दर 40 से 70 प्रतिशत है।

निपाह वायरस क्या है?
निपाह वायरस एक वायरल संक्रमण है और ‘निपाह’ नाम मलेशिया के एक गांव से आया है, जहां इसका पहला प्रकोप 1998-1999 में सामने आया था और इसकी मृत्यु दर काफी अधिक है। यह एक ज़ूनोटिक वायरस है जो मनुष्यों में गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है। यह मुख्य रूप से जानवरों से मनुष्यों में फैलता है और मानव से मानव में भी फैल सकता है। निपाह वायरस संक्रमण के लक्षण हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकते हैं।

निपाह वायरस के लक्षण (Nipah virus symptoms)

  1. बुखार: निपाह वायरस का संक्रमण अक्सर तेज बुखार से शुरू होता है।
  2. सिरदर्द: सिरदर्द एक सामान्य प्रारंभिक लक्षण है।
  3. मांसपेशियों में दर्द: फ्लू जैसे लक्षणों के समान मांसपेशियों में दर्द और दर्द हो सकता है।
  4. थकान: अत्यधिक कमजोरी और थकान हो सकती है।
  5. मतली: कई व्यक्तियों को मतली का अनुभव होता है, कभी-कभी उल्टी के साथ।
  6. चक्कर आना: कुछ लोगों को चक्कर आ सकता है या सिर घूम सकता है।
  7. मानसिक भ्रम: जैसे-जैसे बीमारी बढ़ती है, भ्रम और भटकाव विकसित हो सकता है।
  8. दौरे: गंभीर मामलों में, व्यक्तियों को तंत्रिका संबंधी जटिलताओं के कारण दौरे का अनुभव हो सकता है।
  9. श्वसन लक्षण: गंभीर मामलों में सांस लेने में कठिनाई सहित श्वसन संबंधी परेशानी हो सकती है।
  10. कोमा: सबसे गंभीर मामलों में, व्यक्ति कोमा में जा सकता है।

इन लक्षणों पर रखें कड़ी नजर
बुखार: निपाह वायरस का संक्रमण अक्सर तेज बुखार से शुरू होता है, आमतौर पर इसके संपर्क में आने के 3 से 14 दिन बाद शरू होता है।
सिरदर्द: इसमें गंभीर सिरदर्द आम बात है।
चक्कर आना: मरीजों को चक्कर आना या भटकाव का अनुभव हो सकता है।
मतली और उल्टी: मतली और उल्टी जैसे गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षण हो सकते हैं।
गर्दन में अकड़न: गर्दन में अकड़न और मांसपेशियों में दर्द संक्रमण के शुरुआती लक्षण हो सकते हैं।
मानसिक भ्रम: जैसे-जैसे बीमारी बढ़ती है, मरीज़ भ्रमित हो सकते हैं और मानसिक भ्रम पैदा कर सकते हैं।
कोमा: गंभीर मामलों में, निपाह वायरस के संक्रमण से 24-48 घंटों के भीतर कोमा हो सकता है।

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

More in लाइफस्टाइल

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page