Connect with us

उत्तराखण्ड

50 हजार की उधारी में गई मुकतेश्वर के यशवंत की जान, हुआ खुलासा, दो सगे भाई गिरफ्तार

खबर शेयर करें -

रुद्रपुर। ऊधमसिंहनगर के थाना पंतनगर क्षेत्र में हुए यशवंत हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पैसों के लेनदेन के विवाद में यशवंत की हत्या की गई। पुलिस ने हत्या के आरोप में दो सगे भाइयों सहित तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से हत्याकांड में प्रयुक्त हथियार भी बरामद कर लिए हैं।

पुलिस के मुताबिक 24 अगस्त 2023 को थाना पन्तनगर संजय वन में किसी व्यक्ति का शव पड़ा होने की सूचना पर तत्काल पुलिस टीम मौके पर गई। पंत नगर पुलिस द्वारा शव के पंचायतनामा आदि की कार्यवाही की गई। शव की शिनाख्त दिनांक 28 अगस्त को मृतक के भाई द्वारा मृतक की पहचान यशवन्त गौड़ पुत्र हरक सिंह निवासी ग्राम सतबूंगा थाना मुक्तेश्वर के रूप में की गई, जिस संबंध में थाना पन्तनगर में मृतक के भाई की तहरीर के आधार पर धारा 302, 201 भादवी बनाम गौरव सिंह आदि पंजीकृत किया गया।

पुलिस टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर अभियुक्त गौरव सिंह पुत्र स्व0 हिम्मत सिंह विष्ट निवासी ग्राम व पोस्ट भटेलिया थाना मुक्तेश्वर, जनपद नैनीताल, संजय बिष्ट उर्फ संजू पुत्र स्व श्री हिम्मत सिंह बिष्ट निवासी ग्राम व पोस्ट भटेलिया थाना मुक्तेश्वर, जनपद नैनीताल, व मुदित हर्ष गौड़ पुत्र प्रकाश गौड़ निवासी सतबूंगा, थाना मुक्तेश्वर जिला नैनीताल उम्र 25 वर्ष को हत्या में प्रयुक्त स्विफ्ट कार के साथ टाण्डा जंगल से गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ में अभियुक्त गौरव सिंह बिष्ट ने बताया कि मृतक यशवन्त गौड़ ने उसके 50 हजार रुपये देने थे। यशवन्त गौड़ उसे गालिया देता था जो बात उसके दिल को चुभ गयी। कहा कि उसकी छाती में चाकू घोंपकर हत्या के बाद घुसू उर्फ यशवन्त गौड़ के शव को टांडा बैरियर चौकी से करीब आधा किलो मीटर नीचे आकर सड़क किनारे फेंक दिया। अभियुक्त की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त आलाकत्ल चाकू और कपडे बरामद किये जा चुके है।

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

More in उत्तराखण्ड

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page