Connect with us
14 अप्रैल दिन शुक्रवार को सूर्य मीन राशि से निकलकर मेष राशि में प्रवेश करने वाले हैं। सूर्य के मेष राशि में प्रवेश करने पर इस तिथि को मेष संक्रांति के नाम से जाना जाएगा। इस दिन सूर्य से संबंधित चीजों के दान का विशेष महत्व है। इन चीजों को दान करने से सूर्य देव की कृपा से धन और सम्मान में वृद्धि होती है। आइए जानते हैं इस दिन किन चीजों का दान करना चाहिए...

धर्म-संस्कृति

Mesh Sankranti 2023: मेष संक्रांति पर तांबे समेत करें इन चीजों का दान, सूर्य देव दिलाएंगे धन और सम्मान

खबर शेयर करें -

14 अप्रैल दिन शुक्रवार को मेष संक्रांति है और इस दिन सौर कैलेंडर का नववर्ष प्रारंभ होता है। साथ ही इस दिन बैसाखी का पर्व भी मनाया जाएगा। सूर्य जब एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं, तब उस तिथि को संक्रांति के नाम से जाना जाता है। सूर्य राशि चक्र की पहली राशि मेष में प्रवेश करने वाले हैं, जिससे इस तिथि को मेष संक्रांति के नाम से जाना जाएगा। मेष संक्रांति पर सूर्यदेव की पूजा और दान करने का विशेष महत्व है। इस दिन उगते सूर्य को तांबे के लोटे से अर्ध्य और आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र में बताया गया है कि मेष संक्रांति पर सूर्य से संबंधित चीजों का दान करने से मान-सम्मान की प्राप्ति होती है और धन संबंधित समस्याओं से निजात मिलती है। आइए जानते हैं मेष संक्रांति पर किन चीजों का दान करना चाहिए…

यह दान करने से बुद्धि व बल का होता है विकास

यह दान करने से बुद्धि व बल का होता है विकास

मेष संक्रांति पर तांबे के दान का विशेष महत्व बताया गया है। तांबे का संबंध सूर्य से माना गया है। इस दिन तांबे का दान करें और तांबे के लोटे से सूर्य को अर्ध्य भी देना चाहिए। ऐसा करने से कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत होती है और बिगड़े काम भी आसानी से बन सकते हैं। साथ ही बुद्धि और बल का विकास होता है।

यह दान करने से कार्यक्षेत्र में होती है तरक्की

यह दान करने से कार्यक्षेत्र में होती है तरक्की

मेष संक्रांति पर तांबे के अलावा आप गुड़ और चावल का भी दान कर सकते हैं। गुड़ का संबंध सूर्य और मंगल ग्रह से भी है। मेष संक्रांति पर ‘ॐ घूणि: सूर्य आदित्य:’ मंत्र का जप करते हुए गुड़ का दान करने से जीवन में मधुरता आती है और परिवार के सदस्यों के बीच आपसी प्रेम बना रहता है। इसका दान करने से आपके सम्मान की रक्षा होती है और कार्यक्षेत्र में अच्छी तरक्की होती है।

यह दान करने से धन धान्य की नहीं होती कमी

यह दान करने से धन धान्य की नहीं होती कमी

मेष संक्रांति पर आप गेहूं का भी दान कर सकते हैं। साथ ही इस दिन सत्तू पीने और दान करने का भी रिवाज है। इस दिन अपने वजन के बराबर गेहूं का दान करने से सूर्यदेव की कृपा बनी रहती है और घर में कभी धन-धान्य की कमी नहीं होती है। साथ ही नौकरी व व्यापार में अच्छी तरक्की होती है।

यह दान करने से बनी रहती है समृद्धि

यह दान करने से बनी रहती है समृद्धि

मेष संक्रांति पर सुबह साफ कपड़े पहनकर सूर्य को अर्ध्य दें और गरीब व जरूरतमंद को मसूर दाल का दान करें। ऐसा करने से कुंडली में सभी ग्रहों का दोष दूर होता है और घर में धन धान्य की कमी नहीं होती। मसूर दाल का दान करने से पारिवारिक सदस्यों के सम्मान में वृद्धि होती है और समृद्धि बनी रहती है।

यह दान करने से पराक्रम में होती है वृद्धि

यह दान करने से पराक्रम में होती है वृद्धि

मेष संक्रांति पर लाल चीजें, जैसे – लाल फूल, लाल चंदन, लाल कपड़े आदि का दान करना बहुत शुभ माना गया है। साथ ही आप सूर्य देव के सिद्ध मंत्र का जप लाल चंदन की माला से कर सकते हैं। मान्यता है कि इन चीजों के दान करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती है और पराक्रम में वृद्धि होती है।

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in धर्म-संस्कृति

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page