Connect with us
उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन की बहन किम यो जोंग ने अमेरिका के जासूसी विमानों पर देश के प्रतिबंधित क्षेत्र में घुसने का आरोप लगाया है। किम यो जोंग का कहना है कि 8 बार अमेरिकी जासूसी विमान उत्तर कोरिया के विशेष आर्थिक जोन में घुसे। उन्होंने अमेरिका को चेतावनी दी कि आगे विमानों को मार गिराया जा सकता है।

अंतरराष्ट्रीय

किम जोंग उन की बहन का गंभीर आरोप, कहा-हमारे प्रतिबंधित क्षेत्र में घुस आए अमेरिका के जासूसी विमान

खबर शेयर करें -

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन की शक्तिशाली बहन किम यो जोंग ने अमेरिका पर बेहद गंभीर आरोप लगाया है। किम यो जोंग का कहना है कि अमेरिकी सैन्य जासूसी विमान उनके देश के विशेष आर्थिक क्षेत्र में घुस आए। राज्य मीडिया केसीएनए ने बताया कि किम यो जोंग ने मंगलवार को अमेरिकी सैन्य जासूसी विमान पर देश के विशेष आर्थिक क्षेत्र में आठ बार प्रवेश करने का आरोप लगाया। इसके बाद किम ने चेतावनी दी कि यदि अमेरिकी सेनाएं इस तरह “अवैध घुसपैठ” करती हैं, तो उन्हें “बहुत गंभीर उड़ान” का सामना करना पड़ेगा। किम यो जोंग ने सोमवार को लगाए गए आरोप को दोहराते हुए कहा कि अमेरिका ने निगरानी उड़ानों का संचालन करके अपने हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया था।

रायटर की रिपोर्ट के अनुसार किम यो जोंग ने अमेरिका को यह भी चेतावनी दी कि ऐसी उड़ानें जारी रहीं तो उन्हें उत्तर कोरिया द्वारा मार गिराया जा सकता है। पेंटागन ने पहले हवाई क्षेत्र के उल्लंघन के प्योंगयांग के आरोपों को खारिज कर दिया था और कहा था कि अमेरिकी सेना ने अंतरराष्ट्रीय कानून का पालन किया है। पेंटागन की प्रवक्ता सबरीना सिंह ने संवाददाताओं से कहा, “तो ये आरोप सिर्फ आरोप हैं।” किम ने अमेरिकी वायु सेना पर सोमवार को कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्वी तट पर गैंगवॉन प्रांत के टोंगचोन से 435 किमी (270 मील) पूर्व में और उलजिन से 276 किमी दक्षिण-पूर्व में समुद्र के ऊपर उत्तर के “आर्थिक जल क्षेत्र” में घुसपैठ करने का आरोप लगाया है।

200 समुद्री मील तक फैला है उत्तर कोरिया का विशेष आर्थिक जोन

उत्तरी ग्योंगसांग प्रांत के किसी देश का विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र (ईईजेड) – जो तट के चारों ओर 12 समुद्री-मील प्रादेशिक क्षेत्र से 200 समुद्री मील तक फैला हुआ है। उत्तर कोरिया को इन समुद्री संसाधनों के दोहन का अधिकार है, लेकिन पानी की सतह या उसके ऊपर के हवाई क्षेत्र पर संप्रभुता प्रदान नहीं है। अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने सोमवार को नियमित समाचार ब्रीफिंग में उत्तर कोरिया के बयानों के बारे में पूछे जाने पर उत्तर कोरिया से “बढ़ती कार्रवाइयों से परहेज करने” का आग्रह किया और “गंभीर व निरंतर कूटनीति में शामिल होने” का आह्वान दोहराया।

दक्षिण कोरिया भी बीच में कूदा

उत्तर कोरिया की ओर से अमेरिका पर अवैध घुसपैठ का आरोप लगाकर धमकी देने के बाद दक्षिण कोरिया भी मैदान में कूद गया है। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने कहा कि प्योंगयांग दक्षिण कोरिया-अमेरिका की “सामान्य उड़ान गतिविधि” को लेकर धमकियों का इस्तेमाल कर तनाव बढ़ा रहा है। वहीं पेंटागन की प्रवक्ता ने इस मुद्दे को “कोरियाई पीपुल्स आर्मी और अमेरिकी सेना के बीच का मामला” बताते हुए दक्षिण कोरिया से केसीएनए द्वारा दिए गए एक बयान में शामिल होने से परहेज करने को कहा।

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

More in अंतरराष्ट्रीय

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page