Connect with us

उत्तराखण्ड

हल्द्वानी बनभूलपुरा दंगे में छह लोगों की मौत, इंटरनेट सेवाएं अभी बंद

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी बनभूलपुरा में हुए दंगे के दौरान छह लोगों की मौत होने की खबर सामने आ रही है। जिलाधिकारी वंदना सिंह के मुताबिक इन दंगों में चार लोगों की मौत हुई है। इधर हालात सामान्य बनाए रखने के लिए प्रशासन सक्रिय और अब तक शहर में इंटरनेट सेवाएं बंद है एवं धारा 144 भी लागू है।

बता दें कि मुस्लिम बाहुल्य बनभूलपुरा क्षेत्र के मलिक का बगीचा में नजूल भूमि पर बना मदरसा और मस्जिद ध्वस्त करने पर दंगा भड़क गया। उग्र भीड़ ने प्रशासन, नगर निगम और पुलिस फोर्स पर पथराव व आगजनी कर दी। उग्र भीड़ ने बनभूलपुरा थाना फूंक दिया और दर्जनों बाइकों में आग लगा दी। अंधेरा होता ही फायरिंग और बमबाजी की घटनाएं भी सामने आई हैं। पथराव व आगजनी में 250 से ज्यादा पुलिस कर्मी, प्रशासनिक अधिकारी व लोग घायल हो गए।

गुरुवार की शाम नगर निगम, प्रशासन और पुलिस फोर्स की संयुक्त टीम मलिक के बगीचे में नजूल भूमि पर बना मदरसा और मस्जिद ध्वस्त करने पहुंची। जैसे ही अवैध निर्माण को ध्वस्त करने के लिए जेसीबी और नगर निगम कर्मी पहुंचे वैसे ही मुस्लिमों की उग्र भीड़ ने चारों तरफ से घेर लिया और नारेबाजी और धक्कामुक्की शुरू कर दी। महिलाएं भी घरों से निकल आईं और रास्ते में ही बैठ कर दुआ करने लगीं। पुलिस ने भीड़ को समझाने की कोशिश की लेकिन भीड़ नहीं मानी और बवाल होने लगा। भीड़ पुलिस के बैरिकेडिंग तोड़कर घुस गई। पुलिस ने भीड़ को शांत करने के लिए लाठियां फटकारी लेकिन भीड़ बेकाबू हो गई। जैसे ही जेसीबी ने मदरसा व मस्जिद पर पंजा मारा वैसे ही चारों तरफ से पत्थरबाजी शुरू हो गई। पुलिस ने भीड़ को शांत करने के लिए कई राउंड टियर गैस भी छोड़ी लेकिन बवाल बढ़ता गया। जबतक आसपास के थानों से पुलिस फोर्स पहुंचती तब तक हालात बेकाबू हो चुके थे। शाम को हल्का अंधेरा होने पर उग्र भीड़ ने पुलिस की गाड़ियों, बाइकों और बैरिकेड्स को आग के हवाले कर दिया। बाद में उग्र भीड़ ने बनभूलपुरा थाना भी फूंका दिया। देर सायं अवैध तमंचों से फायरिंग और बमबाजी की घटनाएं भी सामने आ रही हैं। पुलिस फोर्स ने किसी तरह प्रशासनिक अधिकारियों को बाहर निकाला। खबर लिखे जाने तक देर सायं तक बवाल जारी है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बनभूलपुरा दंगे को लेकर आपात बैठक बुलाई और पूरे घटनाक्रम की समीक्षा की। उन्होंने डीजीपी अभिनव कुमार व मुख्य सचिव राधा रतूड़ी को मौके पर निगरानी बरतने के निर्देश दिए और जनता से शांति व्यवस्था बनाने की अपील की है। पुलिस व प्रशासन को दंगाइयों को नहीं बख्शने के निर्देश दिए हैं।कोटनगर निगम व प्रशासन की टीम बनभूलपुरा में मलिक का बगीचा में नजूल भूमि पर बना अवैध मदरसा व मस्जिद ध्वस्त करने गई थी। इस बीच उग्र भीड़ ने पुलिस फोर्स, प्रशासन, नगर निगम की टीम पर हमला करदिया। उग्र भीड़ ने आगजनी की घटनाएं भी की हैं। देर रात तक हालात को काबू करने के लिए पुलिस फोर्स मौके पर डटी हुई है। = प्रहलाद नारायण मीणा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, नैनीताल

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

More in उत्तराखण्ड

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page