Connect with us

क्राइम

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग सहायक अभियंता को सीबीआई ने एक लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

खबर शेयर करें -

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) के सहायक अभियंता को सीबीआई ने एक लाख रुपये की रिश्वत के साथ रंगेहाथ गिरफ्तार किया है। आरोपी अभियंता ठेकेदार से एक सरकारी आवासीय कॉलोनी का निर्माण जारी रखने के लिए यह रिश्वत ले रहा था। उसकी गिरफ्तारी के बाद सीबीआई ने अभियंता के सरकारी आवास पर भी छापा मारा। यहां से सीबीआई ने 20 लाख रुपये से अधिक बरामद किए हैं। आरोपी अभियंता को बुधवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

सीबीआई से मिली जानकारी के अनुसार दीपक कुमार निवासी माता मंदिर रोड धर्मपुर ने बुधवार सुबह सीबीआई को शिकायत की थी। दीपक कुमार सरकारी ठेकेदार हैं और वर्तमान में उनकी फर्म सीमाद्वार स्थित सरकारी आवासीय कॉलोनी का निर्माण कर रही है। इस निर्माण की देखरेख सीपीडब्ल्यूडी का सहायक अभियंता संदीप कुमार कर रहा था। दीपक कुमार ने सीबीआई को बताया कि संदीप कुमार वहां बार-बार आता और काम में बाधा डालता था। जब वह कमी निकालने का कारण पूछते तो कोई वाजिब जवाब वह नहीं देता था। एक दिन दीपक कुमार ने अभियंता संदीप कुमार से इसका स्थायी हल निकालने के लिए कहा। इस पर अभियंता संदीप कुमार ने दीपक कुमार से साढ़े पांच लाख रुपये रिश्वत मांगी। लेकिन, दीपक कुमार रिश्वत नहीं देना चाहते थे।

उन्होंने संदीप से फिर सोमवार को फोन पर बात की। दीपक कुमार ने इस बातचीत को मोबाइल फोन में रिकॉर्ड कर लिया और मेमोरी कार्ड सीबीआई को सौंप दिया। सीबीआई ने तत्काल इस मामले में मुकदमा दर्ज कर ट्रैप की तैयारी की। सीबीआई की टीम दीपक कुमार के साथ संदीप के आवास के पास खड़ी हो गई। दीपक कुमार ने एक लाख रुपये की रिश्वत जैसे ही संदीप कुमार के हाथ में थमाई, सीबीआई की टीम ने उसे रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। संदीप कुमार मूल रूप से ग्राम महाराजपुर, लक्सर, हरिद्वार का रहने वाला है। सीबीआई ने संदीप कुमार के सरकारी आवास पर भी छापा मारा। वहां से 20.49 लाख रुपये नकद और कई महत्वपूर्ण दस्तावेज भी बरामद किए। उसके लक्सर स्थित आवास पर भी सीबीआई छापे के लिए पहुंची है।

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

More in क्राइम

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page