Connect with us
बिहार के अररिया जिले में पत्रकार विमल यादव हत्याकांड मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि पत्रकार को अपराधियों ने घर में घुसकर छाती पर ताबडतोड़ फायरिंग की थी।

क्राइम

बिहार: अररिया पत्रकार हत्याकांड के चार आरोपी गिरफ्तार. हत्या के पीछे की वजह आई सामने

खबर शेयर करें -

बिहार: अररिया जिले में पत्रकार विमल यादव हत्याकांड मामले में परिवार की तरफ से कुल आठ आरोपियों के खिलाफ नामजद FIR दर्ज कराई गयी है, जिसमें से पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने जानकारी दी है कि इस हत्या के दो आरोपी पहले से जेल में हैं, बाकी दो आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी चार आरोपियों की गिरफ़्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही हैं। DSP ने फोन पर जानकारी दी है कि पुलिस को एक बाइक पर सवार दो अपराधियों का CCTV भी  मिला हैं, हालांकि वीडियो में उनका चेहरा स्पष्ट नहीं आया हैं। 

देखें पुलिस ने क्या कहा-

इस वजह से हत्या की आशंका

शनिवार को पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए चार लोगों में से दो लोग विमल यादव की हत्या में शामिल थे। विमल के पिता की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया था। एफआईआर में कहा गया है कि आरोपियों ने साल 2019 में विमल यादव के भाई की भी हत्या कर दी थी। विमल उस मामले में एकमात्र गवाह था और उस पर अपनी गवाही बदलने के लिए अनुचित दबाव डाला जा रहा था।

 बिहार पुलिस ने प्रारंभिक जांच में कहा कि हत्या से पता चलता है कि “मृतक की उसके पड़ोसियों के साथ पुरानी दुश्मनी थी और वही घटना का कारण हो सकता है।

सीएम नीतीश ने लिया था हत्या का संज्ञान 

विमल यादव के भाई की हत्या से राज्य में काफी हंगामा हुआ था, जिसमें लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के नेता चिराग पासवान ने कानून-व्यवस्था लागू करने में विफलता को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की आलोचना की थी। बाद में सीएम नीतीश ने अररिया में हुई हत्या पर दुख जताया था और कहा था, ‘खबर मिलते ही मैंने अधिकारियों को तत्काल कार्रवाई करने का आदेश दिया है।’

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

More in क्राइम

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page