Connect with us

देहरादून

बदरीनाथ व हेमकुंड की चोटियों पर फिर बर्फबारी, सड़क में कीचड़ के चलते फंस रहे हैं वाहन

खबर शेयर करें -

गोपेश्वर। बारिश के बीच बदरीनाथ धाम की यात्रा सुचारू रूप से चल रही है। वहीं बदरीनाथ हाईवे भी सुचारू है।
सोमवार सुबह से ही बदरीनाथ व हेमकुंड साहिब की चोटियों में बर्फबारी हो रही है और निचले इलाकों में बारिश हो रही है। बारिश के चलते हाईवे चौड़ीकरण का काम भी बाधित हो रहा है।

बदरीनाथ धाम में महायोजना के काम से सड़क पर कीचड़ हो गया है। साथ ही सड़कों पर गड्ढे होने से वाहन भी फंस रहे हैं। जिससे यात्रियों की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
वहीं गौचर और कर्णप्रयाग के बीच जलेस्वर के सामने बदरीनाथ हाईवे पर दलदल बन गया है, जिसमें बार-बार वाहन फंस रहे हैं। सोमवार को यहां ट्रक फसने से जाम लग गया। जेसीबी ने ट्रक को निकालकर आधा घंटे बाद आवागमन सुचारू किया। ऋषिकेश क्षेत्र में बारिश लगातार जारी है। फिलहाल ऋषिकेश-गंगोत्री मार्ग तथा ऋषिकेश- बदरीनाथ मार्ग पर यातायात सुचारू है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में शादीशुदा महिला की घिनौनी हरकत, सोशल मीडिया पर डाले बच्चों के अश्लील वीडियो

बारिश के कारण यात्रा मार्गों पर हो रही परेशानी को लेकर पुलिस तीर्थयात्रियों को सजग कर रही है। ऋषिकेश के यात्रा बस ट्रांजिट कैंप में भी लगातार मौसम को लेकर सूचना प्रसारित की जा रही है तथा यात्रियों से मौसम का पूर्वानुमान देखकर ही यात्रा करने की सलाह दी जा रही है।
उत्तरकाशी जिला मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्रों और गंगोत्री-यमुनोत्री में हल्की वर्षा हो रही है। गंगोत्री धाम में दोपहर 12:00 बजे तक करीब 4000 तीर्थयात्रियों ने दर्शन कर दिए हैं। जबकि यमुनोत्री धाम में करीब 3500 में दर्शन किए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  राज्यपाल ने लॉन्च की वेबसाइट, सरकार के योजनाओं की मिलेगी जानकारी

गंगोत्री हाईवे पर बंदरकोट के पास पत्थर गिरने और भूस्खलन होने के कारण बार-बार बंद हो रहा है। सुबह 6:00 बजे से लेकर दोपहर तक बंदरकोट के पास चार बार पत्थर और मलबा आ चुका है।‌ मौके पर तैनात जेसीबी मशीन से मलबे को हटाया गया और मार्ग को सुचारू किया गया। वर्तमान में यात्रा सुचारू चल रही है।




Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

More in देहरादून

Trending News

Follow Facebook Page

You cannot copy content of this page