Connect with us

उत्तर प्रदेश

अफ़सोस: मैं अपनी नजरों में बहुत गिर गया हूं… जान देने जा रहा हूं…ऑनलाइन गेमिंग से ठगे जाने के बाद छात्र लापता

खबर शेयर करें -

कानपुर में 12वीं का छात्र के साथ साइबर फ्रॉड हो गया। मोबाइल पर ऑनलाइन गेम खेलने के दौरान पिता के खाते से 50 हजार उड़ गए। इससे आहत छात्र ने घर छोड़ दिया। उसके स्कूल बैग में मिले एक पत्र में उसके कई बातें लिखी हैं।

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले से हैरान करने वाली खबर सामने आई है। दरअसल, 12वीं का छात्र मोबाइल पर ऑनलाइन गेम खेल रहा था। इसी दौरान उसे पिता के अकाउंट से 50 हजार रुपये निकल गए। विज्ञापनसोमवार को डरा सहमा 12वीं का छात्र अपना घर छोड़कर कहीं चला गया। हालांकि उसके बैग एक लेटर मिला है। इस लेटर में उसने अपने परिवार को लेकर काफी बातें लिखी हैं। साथ ही उसमें लिखा है कि मुझसे बड़ी गलती हुई है। इसलिए मैं जा रहा हूं। अब आप लोग मुझे मत ढूंढिएगा।

लेटर में ही छात्र ने यह भी लिखा है कि मैंने कई बार खुदकुशी करने की कोशिश की, लेकिन वह कर नहीं पाया। अब वह नहर में कूदकर जान दे देगा। छात्र के जाने के बाद से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। उधर, पुलिस भी छात्र की तलाश में जुटी है। जानकारी के अनुसार, मूलरूप से बिहार के छपरा के रहने वाले नितेश कुमार आर्डनेंस फैक्टरी में मशीन ऑपरेटर हैं। वह परिवार के साथ कानपुर में ही रहते हैं। उनके परिवार में पत्नी, तीन बेटियां और इकलौता बेटा नितिन कुमार (17) है। नितिन 12वीं कक्षा में पढ़ रहा है। सोमवार को नितिन अचानक घर से लापता हो गया। घर नहीं आने पर परिजनों ने उसकी काफी तलाश की, लेकिन उसका कहीं कुछ पता नहीं चल पाया। परिजनों ने नितिन के लापता होने की जानकारी पुलिस को दी। मंगलवार सुबह पुलिस ने छात्र का कमरा चेक किया। इस दौरान उसके स्कूल बैग की भी तलाशी ली गई। उसके बैग में एक पत्र मिला। इसमें उसने बड़ी गलती होने की बात लिखी थी। एडीसीपी पूर्वी आकाश पटेल के अनुसार, पिता के मोबाइल पर गेम खेलते समय उससे 50 हजार का ऑनलाइन फ्रॉड हो गया था। इससे छात्र डर गया। डर के कारण वह घर छोड़कर चला गया। नितिन से पहले भी ऑनलाइन गेम खेलते वक्त धोखाधड़ी का शिकार हुआ था। इस पर पिता ने उसे डांट लगाई थी। 14 से 15 जनवरी के बीच नितिन फिर से ऑनलाइन ठगी का शिकार हुआ।

अनन्या पांडेय के अकाउंट में ट्रांसफर हुए रुपये

पुलिस ने जांच की तो सामने आया कि 50 हजार रुपये किसी अनन्या पांडे नाम की लड़की के अकाउंट में स्थानान्तरण किए गए हैं। अनन्या नाम की आईडी से नितिन चैट कर रहा था। पुलिस नितिन के सोशल मीडिया अकाउंट, इंस्टाग्राम आदि के बारे में जानकारी जुटा रही है। जांच में सामने आया कि अनन्या ने नितिन से एक लाख रुपये की मांग की थी। 80 हजार उसने ऑनलाइन पेमेंट कर दिए थे। पहले अर्मापुर और अब दिल्ली में रहने वाले एक दोस्त से नितिन ने 30 हजार रुपये मांगे थे। वहीं, परिजनों का कहना है कि अमन नाम के किसी लड़के का फोन आने के बाद नितिन घर से निकला था।

पत्र पढ़कर छलक पड़ेंगे आंसू

बैग से मिले पत्र में नितिन ने लिखा-पापा, मम्मी और मेरी प्यारी बहनों…आई लव यू, अपना ख्याल रखना। मम्मी-पापा का भी ख्याल रखना। प्रिया दी… नाना-नानी और सभी को तुम संभाल लेना। पापा आज मुझसे फिर से गलती हो गई। मुझे पता है कि आप दो-तीन दिन गुस्सा करते फिर सामान्य हो जाते पर मैं आज अपनी नजरों में बहुत गिर गया हूं। पापा… मम्मी को संभालिएगा और उनकी आंखों में आंसू नहीं आने दीजिएगा…। प्रिया दी… तुम्हें आईएस बनते नहीं देख पाया। सॉरी, प्रीति दी तुम्हें इंजीनियर और सबसे प्यारी बहन कशिश को डॉक्टर बनता नहीं देख पाया। प्रिया दी…प्रीति दी… मम्मी-पापा और सबको अब तुम्हें ही संभालना है। पापा खुश रहा करिए, आपकी हंसी बहुत प्यारी है। मम्मा आप तो मेरी एंजल है, पर आज की गलती के कारण मैं आपसे नजरें नहीं मिला पाऊंगा। मम्मा प्लीज रोइएगा मत। लव यू ऑल…। पापा सॉरी… यू आर माई हीरो। मम्मी मैंने सुसाइड करने की बहुत कोशिश की, लेकिन कर नहीं पाया। प्लीज मुझे अब मत ढूंढिएगा। मैं नहर में कूदकर खुद को मार लूंगा, पर आप लोगों का सामना नहीं कर पाऊंगा।

Continue Reading

संपादक - कस्तूरी न्यूज़

More in उत्तर प्रदेश

Recent Posts

Facebook

Advertisement

Trending Posts

You cannot copy content of this page